मशीनी भाषा किसे कहते है – What is Machine Language

Machine Language एक प्रकार की Low-Level language होती है जिसको Binary Digits यानि “0” और “1” की मदद से बनाई जाती है |

हेल्लो दोस्तों कैसे हैं आप ? जैसे की इस लेख की Heading से ही आप सबको पता चल गया होगा कि हम आज इस लेख में आपको “मशीनी भाषा किसे कहते है” के बारे में | मैं आपको इस लेख में बताऊंगा कि “What is Machine Language in hindi ?

दोस्तों मशीनी भाषा (Machine Language) से आप सबको समझ में आ ही गया होगा कि ये भाषा कंप्‍यूटर या मशीनों से बातचीत करने के लिये प्रयोग में आती है, लेकिन कैसे और कहां मशीनी भाषा (Machine Language) का इस्तेमाल होता है |

मशीनी भाषा किसे कहते है – What is Machine Language in Hindi

दोस्तों जैसा की आप सब जानते हैं कि computer एक digital device होता है | जिस वजह से कंप्यूटर binary डाटा को आसानी से पहचान लेता है |  क्या आप जानते हैं कि सभी प्रोग्राम , विडियो, फोटो और सभी character of text को binary में  represent किया जाता है इसे binary data या machine कोड की मदद से प्रोसेस किया जाता है,  उसके बाद CPU द्वारा डाटा को  recieve किया जाता है और फिर इस डाटा हो resulting output यानि operating system या एक application को भेज देते हैं |  जिसकी मदद से डाटा visually display करता है |

मशीनी भाषा किसे कहते है FE

जैसा की मैंने आपको पहले भी बताया कि Machine Language एक प्रकार की Low-Level language होती है जिसको Binary Digits यानि “0” और “1” की मदद से बनाई जाती है | machine language का Binary Digits यानि “0” और “1” को समजने का एक कारण यह भी है की कम्प्यूटर मात्र बाइनरी language  अर्थात 0 और 1 को ही समझता है और जिस कारण कंप्यूटर का CPU  इन binary कोड को पहचान लेता है और इन binary codes को  Electrical signals मे परिवर्तित कर लेता है जहाँ “0” का मतलब “low या Off” होता है और वहीं  “1” का मतलब “High या On” होता है |

निम्न स्तरीय भाषा (Low Level Language) क्या है ?

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि किसी भी machine language को मशीनी संकेत में बदलने के लिए किसी भी प्रकार के Language Translator  का इस्तेमाल नहीं किया जाता | मैं आपको सरल भाषा में बताऊ तो  वह भाषाएँ जिनके संकेतो को मशीनी संकेतों में बदलने के लिए किसी भी प्रकार के Translator की ज़रूरत नही पड़ती, उसे निम्न स्तरीय भाषा कहते है |

लेकिन मशीनी भाषा में तैयार करना बहुत कठिन है क्योकि सबसे पहले तो प्रोग्रामर को किसी भी m machine language के निर्देशों को याद करना पड़ता था दूसरा machine language के साथ ही प्रोग्रामर को कंप्यूटर hardware structure का सम्पूर्ण ज्ञान होना भी जरुरी था |

मशीनी भाषा ( Machine language ) में प्रोग्राम सुरक्षित रखने के लिये पंचकार्ड (Punch Cards) का इस्‍तेमाल किया जाता था, 1801 में जोसेफ-मेरी जैकर्ड ने सर्वप्रथम पंच कार्ड का प्रयोग किया था |

मशीनी भाषा में प्रोग्राम तैयार कैसे होता है

 अगर दोस्तों में आपको यह बोलू की machine language बोहोत ही आसन है तो सायद से आप में से कुछ मेरी इस बात का भरोसा तो कर ही लिंगे  परन्तु जैसा machine language बोलने में हमें आसन लगता है लेकिन  इस मशीनी भाषा   ( Machine language ) को लिखना उतना ही कठिन है |

वैसे तो machine language binary डाटा से बनी हुई होती है , वही इसे hexadecimal value में represent किया जाता है | अगर हम इसे उदहारण की मदद से समझे तो अगर आप letter “d” type करिंगे तोह binary में  01100100 आएगा |

वैसे ही अगर मैं अपने ब्लॉग वेबिस्ते का नाम “digitechsaurabh.in” डालूं तो binary या machine language  में कुछ इस प्रकार होगा :-  

01100100 01101001 01100111 01101001 01110100 01100101 01100011 01101000 01110011 01100001 01110101 01110010 01100001 01100010 01101000 00101110 01101001 01101110 00100000 00001010

आज आपने हमसे क्या सिखा ?

दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है कि मेरे इस लेख “मशीनी भाषा किसे कहते है – What is Machine Language” से आपको मशीनी भाषा  ( Machine language ) का सभी ज्ञान मिल ही गया होगा | आपको मैने ये भी बता दिया है कि “ निम्न स्तरीय भाषा क्या है और मशीनी भाषा में प्रोग्राम तैयार कैसे होता है” |

दोस्तों अगर आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी सही और फायदेमंद लगे हो तोह आप इस लेख पर comment करें और इस लेख को अपने दोस्तों, भाई- बहनों को बहुत share करें और जो भी आपके dought हो तोह आप comment  के मदद से भी पुछ सकते हैं |

Leave a Reply