कंप्यूटर

कंप्यूटर एक electronic device है | इसे programmable machine भी बोला जाता है | programmable machine एक programmed लिस्ट द्वारा दी गई instruction को execute कर सकती है और वही recevie नई instructions को respond करता है |

“कंप्यूटर क्या है” 

कंप्यूटर शब्द लैटिन शब्द computare से लिया गया है | इसका मतलब है गणना करने योग्य मशीन या प्रोग्राम करने योग्य मशीन । बिना प्रोग्राम के कंप्यूटर कुछ भी नहीं कर सकता है |वही अगर हम आसन भाषा में कहैं तो कंप्यूटर को एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस कहा जाता है और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के साथ-साथ इसे डाटा प्रोसेसिंग देवीचे ( Data Processing Device) भी कहा जाता है|

कंप्यूटर (COMPUTER) शब्द के एक – एक अक्षर का  फुल फॉर्म है जो की इस तरह है “Common Operating Machine Particularly Used for Technical Education & Research.”

“कंप्यूटर का फुल फॉर्म”

यह अलग-अलग इनपुट डिवाइसेसों (Input Devices) की मदद से डाटा इनपुट करता है, फिर इनपुट हुए डाटा पर यूजर (user) द्वारा दिए गये आदेश का पालन कर इनपुट डाटा पर काम करता हें या प्रोसेसिंग (Processing) करता है  आखिर में यह आउटपुट डिवाइसेसों (Output Device) की मदद से प्रोसेसिंग किये गये डाटा हमें  आउटपुट डाटा में दिखता है |

“computer काम कैसे करता है”

चार्ल्स बैबेज एक गणितज्ञ, दार्शनिक, आविष्कारक और यांत्रिक इंजीनियर थे, जो वर्तमान में सबसे अच्छे कंप्यूटर  प्रोग्राम की अवधारणा के उद्धव के लिए जाने जाते हैं या याद किये जाते है | चार्ल्स बैबेज को “कंप्यूटर का पिता”(FATHER OF COMPUTER) माने जाते हैं ।

“चार्ल्स बैबेज – computer का अविष्कारक”

अगर हम कंप्यूटर के प्रकार को देखें तो कंप्यूटर को 3 main प्रकारों के आधार पर बाटा गया है जो की इस प्रकार है डाटा प्रतिनिधि (Data Representative) के आधार पर, आकार और क्षमता (Size or capacity) के आधार पर, उद्देश्य (purpose) के आधार पर | जिसके बारे में आपको सारी जानकारी में computer के प्रकार में पहली ही बता चुका हूँ |

“कंप्यूटर के प्रकार”

जेसा की आप लोग जानते हैं कि  computer हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है and हमें इसके इतिहास के बार में पता होना चाहिए | पुराने computer आज के computer से काफी अलग रहे हैं | बढ़ते समय के साथ इसमें बहुत बदलाव आये हैं |

 शुरुआती दोर में कंप्यूटर बहुत ही बड़े, भारी और खरीद में बहुत महंगे हुवा करते थे |  जेसे जेसे समय बडता गया computer के आकर, वजन और कार्यक्षमता में काफी सुधार हुवा हें | जिस कारण आज हम इस computer का इस्तेमाल इतनी आसानी से कर पा रहे हैं | 

“कंप्यूटर की विभिन्न पीढ़ियाँ”

अगर हम कंप्यूटर की पीढीयों  की बात करें तो computer को अलग अलग पीढीयों में बाटा गया है जैसे प्रथम पीढ़ी (1946-1956) , द्वितीय पीढ़ी (1956-1964) , तृतीय पीढ़ी (1965-1971) , चतुर्थ पीढ़ी  (1971-1985) , पंचम पीढ़ी (1985 – अब तक) |

Leave a Reply